Friday, June 18, 2021
BREAKING
Latest Update-June 18, 2021 महामारी के खिलाफ एक और कदम:वैक्सीन के बाद अब कोविड-19 टेबलेट बनाएगा अमेरिका, डेवलपमेंट और रिसर्च पर 3 अरब डॉलर खर्च होंगे कोरोना संक्रमण: कोविड निगेटिव रिपोर्ट बनी परेशानी, उत्तराखंड आने के बजाय हिमाचल जा रहे पर्यटक राममंदिर ट्रस्ट: एक और रजिस्ट्री से साख दांव पर, संघ-सरकार नाराज, अब काशी मॉडल से खरीदेंगे जमीन दैनिक राशिफल-18 जून 2021(आचार्य बाला दत्त पुजारी, वैदिक एस्ट्रोलोजर-9779111073) जम्मू कशमीर के समान विकास हेतु 12,600.58 करोड़ रूपये का जिला कैंपेक्स बजट 2021-22 मंजूर, लोगों की जरूरतों को पूरा करना, बेहतर शासन प्रदान करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता उपराज्यपाल गंगा नदी में मिली बच्ची का पालन पोषण करेगी UP सरकार, बचाने वाले नाविक को सरकारी आवास: CM योगी पिछले 24 घण्टों में 2,86,396 कोविड टेस्ट किये गये, राज्य में अब तक कुल 05 करोड़, 41 लाख, 45 हजार 947 कोरोना टेस्ट सम्पन्न मुख्यमंत्री को 25 चिकित्सा ग्रेड ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर प्रदान किए राज्य पुलिस वन्यजीवों की रक्षा और वन्यजीव अपराधों को रोकने के लिए प्रतिबद्ध

चंडीगढ़

तीमारदारों को पर्ची लिखकर दे रहे डॉक्टर, अपने मरीजों की कुद आकर करें देखभाल

May 04, 2021 08:42 AM

सिटी दर्पण न्यूज़, चंडीगढ़, 3 मईः जीएमसीएच- 32 में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए अस्पताल प्रशासन द्वारा जारी किए गए आदेश की उसके डॉक्टर ही अवहेलना कर रहे हैं। बता दें कोविड-19 वार्ड में संक्रमण के खतरे को देखते हुए मरीजों के परिजनों के प्रवेश पर रोक का आदेश जारी किया गया था, लेकिन वार्ड में ड्यूटी कर रहे हैं डॉक्टर उस आदेश को दरकिनार कर अब भी परिजनों को वार्ड में बुला रहे हैं। इतना ही नहीं सुरक्षा गार्ड द्वारा रोके जाने पर डॉक्टर इसके लिए लिखित आदेश भी खुद ही जारी कर रहे हैं। इस बाबत अस्पताल प्रशासन का कहना है कि संक्रमण से बचाने के लिए उनकी तैयारियां हर स्तर पर चाक चौबंद है जबकि उनकी नाक के नीचे उनके आदेश की धज्जियां उड़ाकर संक्रमण फैलाने का इंतजाम किया जा रहा है।

कूड़े के ढेर के पास सो रहे परिजन
अस्पताल में कोविड संक्रमण के दौर में भी सफाई की स्थिति बेहद बदतर है। अस्पताल में बनाए गए कोविड-वार्ड के बाहर रखे गए डस्टबिन कूड़े से लबालब भरे हुए हैं, लेकिन उनकी सफाई नहीं की जा रही। आलम यह है कि मरीजों के परिजन उस कूड़े के ढेर से कुछ दूरी पर ही सोते देखे जा सकते हैं। परिजनों का कहना है कि अगर बार-बार कूड़ा साफ करने में परेशानी हो रही है तो अस्पताल प्रशासन को ऐसे जगहों पर एक की बजाय दो डस्टबिन रखने की व्यवस्था करनी चाहिए। इससे प्रयोग किया गया ग्लव्स, मास्क और अन्य संक्रमण की चीजें ऐसे बाहर ना फैलें।

परिजनों को सता रही अपने मरीज की चिंता
दूसरी तरफ कोविड के अन्य वार्ड में भर्ती मरीजों के परिजनों को उनकी चिंता सता रही है। इस समस्या को लेकर रविवार की शाम एक कोविड वार्ड के बाहर परिजनों ने हो-हल्ला भी बचाया। उनका आरोप था कि कोविड वार्ड में रात 12 बजे के बाद डॉक्टर और स्टाफ नजर नहीं आते हैं। ऐसे में अगर उनके मरीज को कुछ हो गया तो उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा। इस समस्या के समाधान के लिए वे अस्पताल प्रशासन से अपने मरीज की देखभाल के लिए वार्ड में जाने की अनुमति प्रदान करने की मांग कर रहे थे।
क्या कहते हैं अधिकारी
कोविड मानकों की अनदेखी पर अस्पताल प्रशासन बेहद सतर्क है। इसमें अस्पताल के कोने-कोने में सफाई व्यवस्था के साथ ही डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ व अन्य कर्मचारियों द्वारा मानकों के पालन की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। -डॉ. जसविंदर कौर, डायरेक्टर प्रिंसिपल

Have something to say? Post your comment

और चंडीगढ़ समाचार

Latest Update-June 18, 2021

Latest Update-June 18, 2021

महामारी के खिलाफ एक और कदम:वैक्सीन के बाद अब कोविड-19 टेबलेट बनाएगा अमेरिका, डेवलपमेंट और रिसर्च पर 3 अरब डॉलर खर्च होंगे

महामारी के खिलाफ एक और कदम:वैक्सीन के बाद अब कोविड-19 टेबलेट बनाएगा अमेरिका, डेवलपमेंट और रिसर्च पर 3 अरब डॉलर खर्च होंगे

कोरोना संक्रमण: कोविड निगेटिव रिपोर्ट बनी परेशानी, उत्तराखंड आने के बजाय हिमाचल जा रहे पर्यटक

कोरोना संक्रमण: कोविड निगेटिव रिपोर्ट बनी परेशानी, उत्तराखंड आने के बजाय हिमाचल जा रहे पर्यटक

राममंदिर ट्रस्ट: एक और रजिस्ट्री से साख दांव पर, संघ-सरकार नाराज, अब काशी मॉडल से खरीदेंगे जमीन

राममंदिर ट्रस्ट: एक और रजिस्ट्री से साख दांव पर, संघ-सरकार नाराज, अब काशी मॉडल से खरीदेंगे जमीन

PGI चंडीगढ़ लगाएगा पता, बच्चों में संक्रमण हुआ या नहीं, इम्युनिटी कितनों में बनीं, प्रशासन उठा रहा खर्च

PGI चंडीगढ़ लगाएगा पता, बच्चों में संक्रमण हुआ या नहीं, इम्युनिटी कितनों में बनीं, प्रशासन उठा रहा खर्च

उड़न सिख मिल्खा सिंह की कोरोना रिपोर्ट आई निगेटिव, मेडिकल आइसीयू में किए गए शिफ्ट, तेजी से हो रहे स्वस्थ

उड़न सिख मिल्खा सिंह की कोरोना रिपोर्ट आई निगेटिव, मेडिकल आइसीयू में किए गए शिफ्ट, तेजी से हो रहे स्वस्थ

थर्ड वेव की आशंका:पीजीआई में हवा से ऑक्सीजन बनाने के प्लांटों का काम शुरू

थर्ड वेव की आशंका:पीजीआई में हवा से ऑक्सीजन बनाने के प्लांटों का काम शुरू

Latest Update-June 17, 2021

Latest Update-June 17, 2021

Covid-19 Third Wave: तीसरी लहर को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की बच्चों के इलाज की गाइडलाइन

Covid-19 Third Wave: तीसरी लहर को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की बच्चों के इलाज की गाइडलाइन

कोविड सुपर स्प्रेडर बना कुंभ: 13 महीनों पर भारी पड़े 30 दिन, कई संतों और श्रद्धालुओं ने गंवाई थी जान

कोविड सुपर स्प्रेडर बना कुंभ: 13 महीनों पर भारी पड़े 30 दिन, कई संतों और श्रद्धालुओं ने गंवाई थी जान