Thursday, December 09, 2021
BREAKING
Latest Update-December 09, 2021 साउथ अफ्रीका में ओमिक्रॉन आने के बाद बच्चों में संक्रमण बढ़ा, जानिए हमारे बच्चों को कितना खतरा? UP Election 2022: प्रियंका ने किया महिलाओं के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी, सरकारी नौकरियों में 40 फीसदी आरक्षण का वादा नहीं रहे देश के पहले CDS:जनरल बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश में निधन, पत्नी मधुलिका समेत 13 लोगों की मौत दैनिक राशिफल-09 दिसंबर, 2021 (आचार्य बाला दत्त पुजारी, वैदिक एस्ट्रोलोजर-9779111073) शहीदों के परिवारों की देखभाल हमारी सांझी जिम्मेदारी- बनवारीलाल पुरोहित सीटीयू के बेड़े में 26 इलेक्ट्रिक बसें शामिल दुल्हन को लेकर जा रही स्कोडा कार रेलिंग तोड़ दूसरी तरफ वाहनों से टकराई, दूल्हा कर रहा था ड्राइव हरियाणा में भारतीय रेलवे माल गोदाम श्रमिकों का भी होगा ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण: मुख्यमंत्री राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि वे युद्ध विधवाओं, निर्शक्त सैनिकों तथा जरूरतमंद भूतपूर्व सैनिकों के पुनर्वास सम्बन्धी कल्याण कार्यों में अपना अपेक्षित योगदान दें

चंडीगढ़

डेंगू ने डस लीं खुशियां : सेहरा सजना था, उठ गई युवक की अर्थी

October 20, 2021 06:02 AM

सिटी दर्पण ब्युरो, चंडीगढ़, 19 अक्तूबर: जिस युवक के सिर पर सेहरा सजना था, डेंगू के कारण उसकी अर्थी उठ गई। 24 साल का विशाल यमुनानगर के जगाधरी सढौरा का निवासी था। पीजीआई में उसका इलाज चल रहा था। अचानक टूटे गम के पहाड़ से परिवार ही नहीं, दोस्त और रिश्तेदार भी सदमे में हैं।

विशाल एक निजी कंपनी में नौकरी करता था और रामगढ़ में कमरा लेकर अकेला रहता था। उसने अपनी और छोटी बहन की शादी के लिए 10 दिन की छुट्टी ले रखी थी। वह शादी की तैयारियों में जुटा था। बहन की शादी का जोड़ा और अपने लिए शेरवानी पसंद कर रखी थी। आठ अक्तूबर को उसे अचानक तेज बुखार आ गया। 9 अक्तूबर को डेंगू की पुष्टि हो गई। घरवाले परेशान न हों, इसलिए उसने उन्हें सूचना नहीं दी। विशाल के दोस्त ही उसकी देखभाल में जुटे थे। उसे लगातार कमजोरी हो रही थी। 13 अक्तूबर की रात कमजोरी के कारण वह बाथरूम में गिर गया। उसके सिर में गंभीर चोट आई। निजी अस्पताल में 16 अक्तूबर तक इलाज चला। 17 अक्तूबर को विशाल को पीजीआई रेफर किया गया, यहां 19 अक्तूबर को उसे ब्रेन डेड घोषित कर दिया गया।

छोटी बहन की डोली उठाने का था सपना
परिजनों ने बताया कि विशाल ने अपनी शादी से एक दिन पहले छोटी बहन की शादी की तारीख तय की थी। उसका सपना था कि पहले छोटी बहन की डोली को कांधा देगा, इसके बाद ही खुद सेहरा सजाएगा। लेकिन होनी को यह मंजूर नहीं था। भाई की असमय मौत से बहन का भी रोरोकर बुरा हाल है। भाई की बीमारी के कारण उसकी शादी भी टाल दी गई थी।
क्या कहते हैं अधिकारी
डेंगू के कारण कोरोना से भी गंभीर स्थिति हो गई है। डोनर प्लेटलेट्स दे देकर ब्लीडिंग करने लगे हैं। मरने वालों में सबसे ज्यादा संख्या युवाओं की है। यह चिंता का सबसे बड़ा कारण है। -राकेश कुमार संगर, प्रधान श्री शिव कांवड़ महासंघ चैरिटेबल ट्रस्ट

Have something to say? Post your comment

और चंडीगढ़ समाचार

Latest Update-December 09, 2021

Latest Update-December 09, 2021

साउथ अफ्रीका में ओमिक्रॉन आने के बाद बच्चों में संक्रमण बढ़ा, जानिए हमारे बच्चों को कितना खतरा?

साउथ अफ्रीका में ओमिक्रॉन आने के बाद बच्चों में संक्रमण बढ़ा, जानिए हमारे बच्चों को कितना खतरा?

UP Election 2022: प्रियंका ने किया महिलाओं के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी, सरकारी नौकरियों में 40 फीसदी आरक्षण का वादा

UP Election 2022: प्रियंका ने किया महिलाओं के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी, सरकारी नौकरियों में 40 फीसदी आरक्षण का वादा

नहीं रहे देश के पहले CDS:जनरल बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश में निधन, पत्नी मधुलिका समेत 13 लोगों की मौत

नहीं रहे देश के पहले CDS:जनरल बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश में निधन, पत्नी मधुलिका समेत 13 लोगों की मौत

शहीदों के परिवारों की देखभाल हमारी सांझी जिम्मेदारी- बनवारीलाल पुरोहित

शहीदों के परिवारों की देखभाल हमारी सांझी जिम्मेदारी- बनवारीलाल पुरोहित

सीटीयू के बेड़े में 26 इलेक्ट्रिक बसें शामिल

सीटीयू के बेड़े में 26 इलेक्ट्रिक बसें शामिल

दुल्हन को लेकर जा रही स्कोडा कार रेलिंग तोड़ दूसरी तरफ वाहनों से टकराई, दूल्हा कर रहा था ड्राइव

दुल्हन को लेकर जा रही स्कोडा कार रेलिंग तोड़ दूसरी तरफ वाहनों से टकराई, दूल्हा कर रहा था ड्राइव

 Latest Update-December 08, 2021

Latest Update-December 08, 2021

जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल VL-SRSAM का सफल परीक्षण, 15 किमी दूर से दुश्मन को कर देगा नेस्तनाबूद

जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल VL-SRSAM का सफल परीक्षण, 15 किमी दूर से दुश्मन को कर देगा नेस्तनाबूद

आंदोलन खत्म होने के लगाए जा रहे थे कयास, तीन मांगों पर फंसा पेच, आज बन सकती है सहमति

आंदोलन खत्म होने के लगाए जा रहे थे कयास, तीन मांगों पर फंसा पेच, आज बन सकती है सहमति