Friday, June 25, 2021
BREAKING
आप नेता चंदर मुखी शर्मा ने मुफ्त पौधारोपण अभियान शुरू किया; 1.11 लाख पौधे बांटे जाएंगे प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत खरीफ फसलों का बीमा करवाने के लिए हरियाणा सरकार ने आगामी 31 जुलाई 2021 तक समय-सीमा बढ़ा दी है संत शिरोमणि सदगुरु भक्त कबीर दास की ‘वाणी’ समाज सुधार और ईश्वर भक्ति का ऐसा अद्भूत संगम है जिसे सदियों तक बार-बार दोहराया जाएगा: दुष्यंत चौटाला 27 जून, 2021 को प्रदेश के 13 जिलों में पोलियो उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों में पोलियो उप-राष्ट्रीय टीकाकरण दिवस (एसटीआईडी) के रूप में मनाएगा किसानों की आय बढ़ाने के लिए फसलों का विविधिकरण किया जाना बहुत जरूरी: जेपी दलाल सरकारी कॉलेजों के स्टॉफ को ग्रीष्मावकाश-2021 के दौरान किए गए कार्यों की एवज में अर्जित अवकाश का लाभ लेने के लिए प्रमाण देने होंगे ओलंपिक क्वालीफाई करने वाले 121 भारतीय खिलाडिय़ों में 30 हरियाणा से होना गर्व की बात: संदीप सिंह मुख्यमंत्री द्वारा भगत कबीर चेयर की स्थापना करने और भगत कबीर भवन के लिए 10 करोड़ रुपए का ऐलान मुख्यमंत्री द्वारा कर्मचारियों की शिकायतों के निपटारे के लिए मंत्रियों की निगरान कमेटी का गठन मुख्य सचिव द्वारा कोविड टीकाकरण से वंचित स्वास्थ्य कर्मियों और पारिवारिक सदस्यों को वैक्सीन लगाने के आदेश

चंडीगढ़

शहर में मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति पर यूटी प्रशासन और पीजीआई आमने-सामने

May 09, 2021 04:06 AM

पीजीआई को जा रहा था चंडीगढ़ कोटे का ऑक्सीजन, जांच में पकड़ा तो लगाई रोक 

सिटी दर्पण न्यूज़, चंडीगढ़, 8 मईः शहर में मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति पर यूटी प्रशासन और पीजीआई आमने-सामने आ गए हैं। शनिवार को जांच में सामने आया है कि एनेस्थेटिक गैसेज प्राइवेट लिमिटेड (एजीपीएल) यूटी प्रशासन के कोटे से पीजीआई के बी-टाइप सिलिंडर को भर रहा था। प्रशासन के अधिकारियों ने पाया कि कई दिनों से यह खेल चल रहा था, जिस पर तुरंत रोक लगा दी गई और पीजीआई के सिलिंडर भरने से एजेंसी को मना कर दिया गया।

सूत्रों के अनुसार एजेंसी ने प्रशासन के कोटे से शुक्रवार को करीब 75 सिलिंडर भर कर दिए हैं, जबकि शनिवार सुबह तक 55 बी-टाइप सिलिंडर भर कर भिजवाए गए थे। इसके बाद भी कुछ अन्य सिलिंडर भरने की तैयारी चल रही थी। यूटी प्रशासन की ओर से पीजीआई के सिलिंडर नहीं भरने के आदेश देने के बाद एजीपीएल ने पीजीआई के निदेशक को एक पत्र लिखा और सारे मामले की जानकारी दी। एजेंसी ने लिखा है कि शनिवार को यूटी प्रशासन के अधिकारी आईएएस यशपाल गर्ग, पीसीएस जगजीत सिंह, मनजीत सिंह व अन्य अधिकारियों ने जांच की। उन्होंने यह भी देखा कि एजेंसी की ओर से किस अस्पताल को कितनी ऑक्सीजन आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने पाया कि एजेंसी की ओर से पीजीआई के बी-टाइप सिलिंडर भरे जा रहे हैं। इस पर अधिकारियों ने तुरंत रोक लगाने को कहा। एजीपीएल ने पीजीआई को आगे लिखा कि अगर पीजीआई अपने सिलिंडरों को भरवाना चाहता है तो ऑक्सीजन भी उन्हीं को मुहैया कराना पड़ेगा। उधर, पीजीआई ने इस संबंध में केंद्र को जानकारी दे दी है।

निजी अस्पताल, कोविड केयर व अन्य के लिए दिए गए दो एमटी के कोटे में से हो रहा था खेल
केंद्र सरकार की तरफ से 20 एमटी पीजीआई और 20 एमटी ऑक्सीजन चंडीगढ़ प्रशासन के अधीन आने वाले अस्पतालों के लिए रोजाना मिल रही है। यूटी प्रशासन को मिलने वाले 20 एमटी मेडिकल ऑक्सीजन में से 18 एमटी सीधे जीएमसीएच-32, जीएमएसएच-16 व सेक्टर-48 के अस्पताल को जाता है। बाकी बचे 2 एमटी ऑक्सीजन को प्रशासन शहर के तीन निजी एजेंसियों को देता है, ताकि वह निजी अस्पतालों, मिनी कोविड केयर सेंटर व अन्य को उनके सिलिंडर में भरकर ऑक्सीजन मुहैया करा सकें। इन तीन निजी वेंडरों में से एक एजीपीएल भी है। बता दें कि पीजीआई का कोटा 20 एमटी का है, लेकिन ऑक्सीजन की खपत रोजाना की करीब 22 से 23 एमटी है। इस वजह से वह अन्य जगहों से ऑक्सीजन भरवाने की जद्दोजहद में लगा है।
पीजीआई प्रशासन ने चंडीगढ़ प्रशासन से मदद की अपील की
ऑक्सीजन सिलिंडर की आपूर्ति पर रोक लगाने के आदेश को लेकर पीजीआई प्रशासन का कहना है कि इस संकट की घड़ी में चंडीगढ़ प्रशासन को उनकी मदद करनी चाहिए। पीजीआई में कोविड प्रबंधन के नोडल अधिकारी डॉ. जीडी पुरी का कहना है कि पीजीआई में ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर केंद्र सरकार से मात्रा बढ़ाने का अनुरोध किया गया था, केंद्र सरकार ने चंडीगढ़ प्रशासन के अनुरोध को स्वीकार कर लिया है, जबकि पीजीआई में स्थिति अब भी पहले जैसी है। ऐसे में चंडीगढ़ प्रशासन को यह ध्यान रखना होगा कि वह कर्ताधर्ता के रूप में अपने दायित्व का निर्वाह करे। डॉ. पुरी ने बताया कि पंजाब सरकार ने पीजीआई के 60 बड़े ऑक्सीजन सिलिंडर भरने की स्वीकृति दे दी है। कई अन्य जगहों से भी आपूर्ति हो रही है। फिलहाल अभी कोई बड़ी समस्या सामने नहीं आई है।
पीजीआई को 20 एमटी ऑक्सीजन दिया जा रहा है। प्रशासन के अधीन काम करने वाले सरकारी व निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति को प्रभावित कर पीजीआई को अतिरिक्त ऑक्सीजन नहीं दिया जा सकता है। पीजीआई ने केंद्र से कोटा बढ़ाने की मांग की है। हम उनकी मांग का समर्थन करते हैं।

Have something to say? Post your comment

और चंडीगढ़ समाचार

आप नेता चंदर मुखी शर्मा ने मुफ्त पौधारोपण अभियान शुरू किया; 1.11 लाख पौधे बांटे जाएंगे

आप नेता चंदर मुखी शर्मा ने मुफ्त पौधारोपण अभियान शुरू किया; 1.11 लाख पौधे बांटे जाएंगे

सीएचबी के चेयरमैन का पद संभालेंगे नए सलाहकार, चीफ विजिलेंस अधिकारी भी बने धर्मपाल

सीएचबी के चेयरमैन का पद संभालेंगे नए सलाहकार, चीफ विजिलेंस अधिकारी भी बने धर्मपाल

अतिथि के तौर पर अब पीयू के छात्रावासों में नहीं रह सकेंगी छात्राएं

अतिथि के तौर पर अब पीयू के छात्रावासों में नहीं रह सकेंगी छात्राएं

छह बार टेंडर.. नहीं बने बस शेल्टर, धूप-बारिश में खड़े होकर लोग बस का इंतजार करने को मजबूर

छह बार टेंडर.. नहीं बने बस शेल्टर, धूप-बारिश में खड़े होकर लोग बस का इंतजार करने को मजबूर

शहर में कैसे पढ़ेगा जरूरतमंद का बच्चा, सरकारी स्कूल में नहीं हो रहा दाखिला

शहर में कैसे पढ़ेगा जरूरतमंद का बच्चा, सरकारी स्कूल में नहीं हो रहा दाखिला

चंडीगढ़ अग्रवाल समाज के आनंद सिंगला अग्रवाल बने अध्यक्ष, बंसल को सौंपी महामंत्री की जिम्मेदारी

चंडीगढ़ अग्रवाल समाज के आनंद सिंगला अग्रवाल बने अध्यक्ष, बंसल को सौंपी महामंत्री की जिम्मेदारी

Latest Update-June 25, 2021

Latest Update-June 25, 2021

चीन ने फैलाया कोरोना? वायरस के स्त्रोत के खुलासे से पहले ही ड्रैगन ने मिटा दिया मरीजों का डेटा- रिपोर्ट

चीन ने फैलाया कोरोना? वायरस के स्त्रोत के खुलासे से पहले ही ड्रैगन ने मिटा दिया मरीजों का डेटा- रिपोर्ट

कोविशील्ड वैक्सीन से हो रहा 'गुलियन बेरी सिंड्रोम', चेहरे की मांसपेशियों पर असर- रिपोर्ट में दावा

कोविशील्ड वैक्सीन से हो रहा 'गुलियन बेरी सिंड्रोम', चेहरे की मांसपेशियों पर असर- रिपोर्ट में दावा

परिसीमन के बाद Jammu-Kashmir में होंगे विधान सभा चुनाव: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

परिसीमन के बाद Jammu-Kashmir में होंगे विधान सभा चुनाव: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी