Friday, June 25, 2021
BREAKING
आप नेता चंदर मुखी शर्मा ने मुफ्त पौधारोपण अभियान शुरू किया; 1.11 लाख पौधे बांटे जाएंगे प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत खरीफ फसलों का बीमा करवाने के लिए हरियाणा सरकार ने आगामी 31 जुलाई 2021 तक समय-सीमा बढ़ा दी है संत शिरोमणि सदगुरु भक्त कबीर दास की ‘वाणी’ समाज सुधार और ईश्वर भक्ति का ऐसा अद्भूत संगम है जिसे सदियों तक बार-बार दोहराया जाएगा: दुष्यंत चौटाला 27 जून, 2021 को प्रदेश के 13 जिलों में पोलियो उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों में पोलियो उप-राष्ट्रीय टीकाकरण दिवस (एसटीआईडी) के रूप में मनाएगा किसानों की आय बढ़ाने के लिए फसलों का विविधिकरण किया जाना बहुत जरूरी: जेपी दलाल सरकारी कॉलेजों के स्टॉफ को ग्रीष्मावकाश-2021 के दौरान किए गए कार्यों की एवज में अर्जित अवकाश का लाभ लेने के लिए प्रमाण देने होंगे ओलंपिक क्वालीफाई करने वाले 121 भारतीय खिलाडिय़ों में 30 हरियाणा से होना गर्व की बात: संदीप सिंह मुख्यमंत्री द्वारा भगत कबीर चेयर की स्थापना करने और भगत कबीर भवन के लिए 10 करोड़ रुपए का ऐलान मुख्यमंत्री द्वारा कर्मचारियों की शिकायतों के निपटारे के लिए मंत्रियों की निगरान कमेटी का गठन मुख्य सचिव द्वारा कोविड टीकाकरण से वंचित स्वास्थ्य कर्मियों और पारिवारिक सदस्यों को वैक्सीन लगाने के आदेश

पंजाब

किसान आंदोलन को कमजोर करने का सवाल ही पैदा नहीं होता परन्तु कोविड की बन्दिशों का उल्लंघन करने की इजाज़त नहीं दे सकते: मुख्यमंत्री

May 09, 2021 04:35 AM
खेती कानूनों के मुद्दे पर मैं और मेरी सरकार किसानों के साथ परन्तु इस समय मानव जीवन बचाना प्राथमिकता: कैप्टन अमरिन्दर सिंह

सिटी दर्पण ब्युरो, पंजाब, 8 मई: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि खेती कानूनों के खि़लाफ़ चल रहे किसान आंदोलन को कमजोर करने का सवाल ही पैदा नहीं होता क्योंकि उनकी सरकार ख़ुद भी इन कानूनों का कड़ा विरोध करती है परन्तु इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने आज फिर से दोहराते हुए कहा कि राज्य की मौजूदा गंभीर स्थिति के मद्देनजऱ किसी भी कीमत पर सप्ताहांत लॉकडाउन और अन्य बन्दिशों का उल्लंघन करने की इजाज़त नहीं दी जा सकती।

मुख्यमंत्री ने कहा, ’’जि़न्दगियां दाव पर लगीं हुई हैं जिनको बचाना हमारी मुख्य प्राथमिकता है और यह हर पंजाबी की भी जि़म्मेदारी बनती है।’’ उन्होंने भारतीय किसान यूनियन (एकता-उग्राहां) और भारतीय किसान यूनियन (एकता डकौंदा) के नेताओं को इस मुद्दे पर बीते दिन उनकी तरफ से की गई टिप्पणियों को और कोई रंगत न देने की अपील की है। संयुक्त किसान मोर्चा की तरफ से सप्ताहांत लॉकडाउन का विरोध करने के आह्वान के संदर्भ में मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को डी.जी.पी. को कहा था कि सप्ताहांत लॉकडाउन की सभी बन्दिशों का सख्ती के साथ पालन करवाएं और किसी भी कीमत पर इसका उल्लंघन करने की आज्ञा न दी जाये। उन्होंने आज फिर से दोहराया कि किसी को भी लोगों की जान से खेलने की इजाज़त नहीं दी जा सकती।
मुख्यमंत्री ने कहा कि दो जत्थेबंदियों के नेताओं ने काले खेती कानूनों के खि़लाफ़ चल रहे किसान आंदोलन बारे उनके इरादों पर शंका पैदा करने के लिए उनके बयान को गलत ढंग से पेश किया। मुख्यमंत्री ने पूछा, ’’हमारी सरकार किसानों के हितों के खि़लाफ़ कैसे जा सकती है जबकि मेरी सरकार देश में पहली सरकार थी जिसने केंद्र सरकार के ख़तरनाक खेती कानूनों को निष्प्रभाव करने के लिए विधानसभा में संशोधन बिल लाए।’’ उन्होंने कहा कि जहाँ तक केंद्रीय कानूनों का सम्बन्ध है, उनकी सरकार स्पष्ट और लगातार इनके खि़लाफ़ है।
राज्य में स्थिति के बेहद गंभीर होने की बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 6 मई को राज्य में 24 घंटों के अंदर 8874 पाजि़टिव केस आए जबकि 154 मौतें हुईं और 265 मरीज़ एकांतवास सेवाओं में दाखि़ल किये, 30 मरीज़ उच्च निर्भरता इकाईयों और 16 मरीज़ वेंटिलेटर स्पोर्ट पर रखे गए। उन्होंने कहा, ’’यह राजनीति करने का समय नहीं बल्कि प्रत्येक व्यक्ति की जान बचाने के लिए हमें अपनी पूरी ताकत लगाने का है।’’
कोविड संकट से निपटने के लिए किसानों को राज्य सरकार को हर तरह के समर्थन और सहयोग देने की अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब के लोगों का जीवन और उनकी सुरक्षा राज्य सरकार की बड़ी प्राथमिकता है। उन्होंने यह दोहराया कि कोविड संकट के चलते वह किसी भी पंजाबी की जान को खतरे में नहीं डालेंगे।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि राज्य सरकार शुरू से ही केंद्र की तरफ से लाए काले खेती कानूनों के खि़लाफ़ लड़ाई में किसानों के साथ खड़ी है और निरंतर खड़ी रहेगी क्योंकि राज्य सरकार का मानना है कि ये कानून किसानों के अस्तित्व और जीवन के लिए सीधा ख़तरा हैं परन्तु इस समय उनकी सरकार लोगों की जान बचाने पर पूरी तरह केंद्रित है। उन्होंने कहा कि यह यकीनी बनाने के लिए कि सख़्त बन्दिशों के साथ कोई परेशानी न हो, उन्होंने डिप्टी कमीश्नरों को रोटेशन अनुसार ग़ैर ज़रूरी वस्तुओं की दुकानों और प्राईवेट दफ्तरों को भी खोलने की आज्ञा दी है।

 

Have something to say? Post your comment

और पंजाब समाचार

मुख्यमंत्री द्वारा भगत कबीर चेयर की स्थापना करने और भगत कबीर भवन के लिए 10 करोड़ रुपए का ऐलान

मुख्यमंत्री द्वारा भगत कबीर चेयर की स्थापना करने और भगत कबीर भवन के लिए 10 करोड़ रुपए का ऐलान

मुख्यमंत्री द्वारा कर्मचारियों की शिकायतों के निपटारे के लिए मंत्रियों की निगरान कमेटी का गठन

मुख्यमंत्री द्वारा कर्मचारियों की शिकायतों के निपटारे के लिए मंत्रियों की निगरान कमेटी का गठन

मुख्य सचिव द्वारा कोविड टीकाकरण से वंचित स्वास्थ्य कर्मियों और पारिवारिक सदस्यों को वैक्सीन लगाने के आदेश

मुख्य सचिव द्वारा कोविड टीकाकरण से वंचित स्वास्थ्य कर्मियों और पारिवारिक सदस्यों को वैक्सीन लगाने के आदेश

बलबीर सिद्धू ने फार्मेसी अधिकारियों और वर्ग-4 कर्मचारियों को दिए नियुक्ति पत्र

बलबीर सिद्धू ने फार्मेसी अधिकारियों और वर्ग-4 कर्मचारियों को दिए नियुक्ति पत्र

कोविड वैक्सीन की कम स्पलाई ने पंजाब में टीकाकरण मुहिम को प्रभावित किया: बलबीर सिद्धू

कोविड वैक्सीन की कम स्पलाई ने पंजाब में टीकाकरण मुहिम को प्रभावित किया: बलबीर सिद्धू

सुखविन्दर सिंह बिंद्रा द्वारा राज्य के सभी स्कूलों, कॉलेजों और यूनिवर्सिटियों में ’हैपीनेस प्रोग्राम’ शुरू करने की योजना

सुखविन्दर सिंह बिंद्रा द्वारा राज्य के सभी स्कूलों, कॉलेजों और यूनिवर्सिटियों में ’हैपीनेस प्रोग्राम’ शुरू करने की योजना

राष्ट्रीय स्तर के प्रोग्राम ‘रिस्पाँसीबल आर्टिफिशियल इंटेंलीजेंस’ के लिए सरकारी स्कूलों के 18 विद्यार्थियों का चयन

राष्ट्रीय स्तर के प्रोग्राम ‘रिस्पाँसीबल आर्टिफिशियल इंटेंलीजेंस’ के लिए सरकारी स्कूलों के 18 विद्यार्थियों का चयन

मुख्यमंत्री द्वारा खाद्य एवं सिविल सप्लाई विभाग को खरीफ मंडीकरण सीजन के दौरान धान की निर्विघ्न खरीद के लिए पुख्ता इंतजाम यकीनी बनाने के हुक्म

मुख्यमंत्री द्वारा खाद्य एवं सिविल सप्लाई विभाग को खरीफ मंडीकरण सीजन के दौरान धान की निर्विघ्न खरीद के लिए पुख्ता इंतजाम यकीनी बनाने के हुक्म

जहाज़ हवेली को जोडऩे वाली सडक़ का नाम दीवान टोडर मल्ल मार्ग रखा: विजय इंदर सिंगला

जहाज़ हवेली को जोडऩे वाली सडक़ का नाम दीवान टोडर मल्ल मार्ग रखा: विजय इंदर सिंगला

मालिकाना हक मिलने से झुग्गी झोंपड़ी वाले 7700 परिवारों का अपने घर का सपना होगा साकार: मुख्य सचिव

मालिकाना हक मिलने से झुग्गी झोंपड़ी वाले 7700 परिवारों का अपने घर का सपना होगा साकार: मुख्य सचिव