Thursday, December 09, 2021
BREAKING
साउथ अफ्रीका में ओमिक्रॉन आने के बाद बच्चों में संक्रमण बढ़ा, जानिए हमारे बच्चों को कितना खतरा? UP Election 2022: प्रियंका ने किया महिलाओं के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी, सरकारी नौकरियों में 40 फीसदी आरक्षण का वादा नहीं रहे देश के पहले CDS:जनरल बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश में निधन, पत्नी मधुलिका समेत 13 लोगों की मौत दैनिक राशिफल-09 दिसंबर, 2021 (आचार्य बाला दत्त पुजारी, वैदिक एस्ट्रोलोजर-9779111073) शहीदों के परिवारों की देखभाल हमारी सांझी जिम्मेदारी- बनवारीलाल पुरोहित सीटीयू के बेड़े में 26 इलेक्ट्रिक बसें शामिल दुल्हन को लेकर जा रही स्कोडा कार रेलिंग तोड़ दूसरी तरफ वाहनों से टकराई, दूल्हा कर रहा था ड्राइव हरियाणा में भारतीय रेलवे माल गोदाम श्रमिकों का भी होगा ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण: मुख्यमंत्री राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि वे युद्ध विधवाओं, निर्शक्त सैनिकों तथा जरूरतमंद भूतपूर्व सैनिकों के पुनर्वास सम्बन्धी कल्याण कार्यों में अपना अपेक्षित योगदान दें जिलों में गीता महोत्सव कार्यक्रम जनसहभागिता के सिद्धांत पर आयोजित किए जाएंगे - अमित अग्रवाल

चंडीगढ़

चंडीगढ़: अब नंबरों से निर्धारित होगी शहर की स्वच्छता रैंकिंग, कम अंक आने पर अधिकारियों की जिम्मेदारी होगी तय

November 25, 2021 09:23 AM

सिटी दर्पण ब्युरो, चंडीगढ़, 24 नवंबर: स्वच्छता रैंकिंग में पिछड़ने के बाद नगर निगम आयुक्त आनिंदिता मित्रा पूरे एक्शन मूड में हैं। उन्होंने सभी अधिकारियों के साथ बैठक कर उनके विभागों के अनुसार नंबर निर्धारित कर दिए हैं। स्वच्छ सर्वेक्षण की अलग-अलग श्रेणियों के आधार पर तय किए गए नंबरों में अव्वल आने के लिए अधिकारियों में होड़ मच गई है, क्योंकि जिन अधिकारियों की श्रेणी में नंबर कम आएंगे, रैंकिंग गिरने में भी उनकी सीधे-सीधे जबावदेही तय हो जाएगी।


16 से 66वें स्थान पर फिसलने के बाद शहरवासियों के साथ ही निगम में भी हलचल मची है। वरिष्ठ अधिकारी इस रैंकिंग के लिए जिम्मेदार तय करने में जुटे हैं लेकिन इस बीच आयुक्त ने अब अपने हाथ में कमान लेते हुए नया निर्णय लिया है। आयुक्त ने रैंकिंग में सुधार के लिए सबसे महत्वपूर्ण जिम्मेदारी एमओएच को दी है। उनके सहयोग के लिए जनसंपर्क अधिकारी, एसई बीएंडआर, स्मार्ट सिटी परियोजनाओं के अधिकारी, बागवानी विभाग, जनस्वास्थ्य विभाग के एसई और एक्सईएन को शामिल किया गया है। इसके अलावा चंडीगढ़ प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, स्वास्थ्य विभाग के साथ अन्य विभागों से भी सहयोग लेने की निगम ने योजना तैयार की है। निगम बुधवार को यह योजना प्रशासक के सलाहकार धर्मपाल के सामने निगम प्रस्तुत करेगा।


अब यह कार्य करना होगा जरूरी

    गीले-सूखे कचरे के निस्तारण की प्रतिदिन व साप्ताहिक रिपोर्ट
    निस्तारित कचरे से बचे सामान का उचित प्रबंधन
    ठोस कचरे का उचित निस्तारण और साप्ताहिक रिपोर्ट
    प्लास्टिक बैग पर पूरी तरह प्रतिबंध
    कम से कम कचरा उत्पन्न करने वाले उपायों की योजना
    जनभागीदारी को बेहतर बनाना
    कर्मचारियों के स्वास्थ्य के साथ उचित सामान उपलब्ध कराना
    कर्मचारियों का डिजिटल रिकॉर्ड व स्वास्थ्य, बीमा और उनके बच्चों के लिए शिक्षा योजना अनिवार्य
    प्रत्येक वार्ड में बेहतर काम करने वाले कर्मचारियों को पुरस्कार
    कर्मचारियों के लिए ई-लर्निंग कोर्स
    टॉयलेट की स्थिति के नंबर की जिम्मेदारी जनस्वास्थ्य विभाग के एक्सईएन की होगी
    कचरामुक्त शहर की जिम्मेदारी एमओएच और ओडीएफ प्लस प्लस की जिम्मेदारी जनस्वास्थ्य विभाग की होगी

इस तरह बांटे हैं 7500 नंबर
             श्रेणी                      जिम्मेदार विभाग/अफसर                                        नंबर

    सर्टिफिकेशन                        एमओएच और पब्लिक हेल्थ                        2250
    सिटीजन फीडबैक                एपीआरओ, सोशल मीडिया टीम                      2250
    डायरेक्ट ऑब्जरवेशन            एपीआरओ, सामाजिक संगठन                      350    
    स्वच्छता एप                        सुपरिंटेंडेंट एसबीएम                                    400
    आपदा में बचाव कार्य के कर्मचारियों को प्रशिक्षित करना स्वास्थ्य विभाग       200
    अन्य नंबर                                निगम के सभी विभाग                             1510
    सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज                जनस्वास्थ्य विभाग                             900


पूछे जाएंगे यह प्रश्न, हां और न में देना है जवाब

    क्या आपके घर से प्रतिदिन कचरा एकत्र किया जाता है?
     क्या आप अपने कचरा संग्रहकर्ता को अलग किया हुआ कचरा (गीला और सूखा) देते हैं?
    क्या आप जानते हैं कि आप गूगल पर निकटतम सार्वजनिक शौचालय खोज सकते हैं?
    क्या आपने स्वच्छता संबंधी अपनी शिकायतों के समाधान के लिए स्वच्छता एप या शहर आधारित एप डाउनलोड किया है?
    क्या आप अपने आसपड़ोस के क्षेत्र को हमेशा साफ-सुथरा पाते हैं?
     क्या आप घरेलू खाद के बारे में जानते हैं?
    क्या आप जानते हैं कि पुरानी किताबें, टूटे खिलौने, कपड़े, जूते आदि का पुन: उपयोग/ पुनर्चक्रण किया जा सकता है?
    क्या आप जानते हैं कि आपका शहर स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में भाग ले रहा है?
    क्या आप जानते हैं कि खुले में पेशाब के धब्बे येलो स्पॉट को स्वच्छता एप के माध्यम से बदला जा सकता है?
     क्या आप जानते हैं कि कोविड-19 के तहत क्वारंटीन किए गए घरों से कचरा अलग से एकत्र किया जाता है?
    घर-घर से कचरा ले जाने की व्यवस्था से संतुष्ट हैं?
     अपने कचरा लेने वाले व्यक्ति से संतुष्ट हैं?
     कचरे के निस्तारण को लेकर लोगों के व्यवहार में बदलाव आया है?
    पब्लिक टॉयलेट पहले से ज्यादा साफ हुए?
    पहले की अपेक्षा अब आपको स्वच्छ सर्वेक्षण के बारे में पहले ज्यादा जागरूक किया जा रहा है?
    क्या आपके पार्क पहले से ज्यादा मेंटेन हैं?

15 जनवरी तक सोशल मीडिया पर होगी पूरी जानकारी
जनवरी में केंद्र से टीम अलग-अलग शहरों में डायरेक्ट ऑब्जरवेशन करना शुरू कर देती है। इसलिए आयुक्त ने 15 जनवरी तक सोशल मीडिया पर स्वच्छ सर्वेक्षण की जानकारी डालने को कहा है। एनजीओ व संगठनों से संपर्क कर योजना बनाने को कहा है। स्वच्छ चंडीगढ़ एप पर प्रतियोगिताओं की जानकारी डालनी होगी, जिसमें नुक्कड़ नाटक, गीत, लघु फिल्म शामिल होंगीं। बदलते चंडीगढ़ को दर्शाते फोटो और उस पर एक पेज का नोट लिखने की भी प्रतियोगिता होगी।

    इस बार हमने विभागवार अधिकारियों को नंबर वितरित कर दिए हैं, ताकि उनका लक्ष्य स्पष्ट रहे। उनको दिए गए कार्य को बेहतर बनाने में अधिकारी अपनी टीम के साथ मिलकर काम करेंगे, ताकि इस बार रैंकिंग में सुधार कर चंडीगढ़ को बेहतर पायदान पर लाया जा सके। - आनिंदिता मित्रा, आयुक्त, नगर निगम

Read more: https://www.amarujala.com/chandigarh/cleanliness-ranking-of-the-city-will-be-determined-by-the-numbers-in-chandigarh?pageId=2

Have something to say? Post your comment

और चंडीगढ़ समाचार

साउथ अफ्रीका में ओमिक्रॉन आने के बाद बच्चों में संक्रमण बढ़ा, जानिए हमारे बच्चों को कितना खतरा?

साउथ अफ्रीका में ओमिक्रॉन आने के बाद बच्चों में संक्रमण बढ़ा, जानिए हमारे बच्चों को कितना खतरा?

UP Election 2022: प्रियंका ने किया महिलाओं के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी, सरकारी नौकरियों में 40 फीसदी आरक्षण का वादा

UP Election 2022: प्रियंका ने किया महिलाओं के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी, सरकारी नौकरियों में 40 फीसदी आरक्षण का वादा

नहीं रहे देश के पहले CDS:जनरल बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश में निधन, पत्नी मधुलिका समेत 13 लोगों की मौत

नहीं रहे देश के पहले CDS:जनरल बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश में निधन, पत्नी मधुलिका समेत 13 लोगों की मौत

शहीदों के परिवारों की देखभाल हमारी सांझी जिम्मेदारी- बनवारीलाल पुरोहित

शहीदों के परिवारों की देखभाल हमारी सांझी जिम्मेदारी- बनवारीलाल पुरोहित

सीटीयू के बेड़े में 26 इलेक्ट्रिक बसें शामिल

सीटीयू के बेड़े में 26 इलेक्ट्रिक बसें शामिल

दुल्हन को लेकर जा रही स्कोडा कार रेलिंग तोड़ दूसरी तरफ वाहनों से टकराई, दूल्हा कर रहा था ड्राइव

दुल्हन को लेकर जा रही स्कोडा कार रेलिंग तोड़ दूसरी तरफ वाहनों से टकराई, दूल्हा कर रहा था ड्राइव

 Latest Update-December 08, 2021

Latest Update-December 08, 2021

जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल VL-SRSAM का सफल परीक्षण, 15 किमी दूर से दुश्मन को कर देगा नेस्तनाबूद

जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल VL-SRSAM का सफल परीक्षण, 15 किमी दूर से दुश्मन को कर देगा नेस्तनाबूद

आंदोलन खत्म होने के लगाए जा रहे थे कयास, तीन मांगों पर फंसा पेच, आज बन सकती है सहमति

आंदोलन खत्म होने के लगाए जा रहे थे कयास, तीन मांगों पर फंसा पेच, आज बन सकती है सहमति

Omicron In India: रहें अलर्ट! आनेवाली है कोरोना की तीसरी लहर, रोज मिलेंगे एक लाख मरीज, लॉकडाउन ही उपाय

Omicron In India: रहें अलर्ट! आनेवाली है कोरोना की तीसरी लहर, रोज मिलेंगे एक लाख मरीज, लॉकडाउन ही उपाय