Sunday, May 26, 2024
BREAKING
पापुआ न्यू गिनी में भूस्खलन से दबे 300 लोग, चीनी श्रमिकों के परिजनों को पाकिस्तान देगा मुआवजा राजकोट में आग लगने से 12 बच्चों सहित 28 की मौत, दूसरी ओर दिल्ली अस्पताल में आग, 6 नवजात बच्चों की मौत, कई घायल Cyclone Remal: चक्रवाती तूफान 'रेमल' आज बंगाल में टकराएगा, NDRF की टीमें अलर्ट, 21 घंटे तक उड़ानों को किया गया रद्द दैनिक राशिफल 27 मई, 2024 रिपोर्ट में दावा- यूक्रेन युद्ध रोकने के लिए पुतिन तैयार:चाहते हैं कि दोनों देशों की सीमाएं मौजूदा हिसाब से ही रहे लोकसभा चुनाव 2024: छठे चरण में 58 सीटों पर वोटिंग, इन दिग्गजों का भविष्य होगा ईवीएम में बंद Chhattisgarh Blast: सबसे बड़ी बारूद फैक्टरी में जोरदार धमाका, दस लोगों की मौत की खबर; कई लोग मलबे में दबे दैनिक राशिफल 26 मई, 2024 दैनिक राशिफल 25 मई, 2024 एक्टिंग चीफ़ जस्टिस द्वारा इंडियन लॉ रिपोट्र्स के फ़ैसलों की आसानी से खोज के लिए ई-एच.सी.आर वैबसाईट का उद्घाटन

चंडीगढ़

ईदुल-फितर आज:ईदगाहपर सुबह 8 बजे नमाज

April 11, 2024 06:59 AM

सिटी दर्पण

नई दिल्ली, 10 अप्रैल: देश के कई हिस्सों में कल शाम नजर आया शव्वाल महीने का चांद यानी आज देश भर में धूमधाम से ईद मनाई जाएगी. देश के कई राज्यों में कल भी ईद मनाई गई, जिसमें केरल, कश्मीर और लद्दाख शामिल हैं. हालांकि, अन्य राज्यों में कल शाम को चांद का दीदार हुआ है. इस वजह से बाकी के राज्यों में आज यानी गुरुवार को ईद का त्योहार मनाया जाएगा. इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार, रमजान के बाद शव्वाल की पहली तारीख को ईद-उल-फितर मनाई जाती है.

ईद के दिन सुबह की नमाज पढ़ने के साथ ही इसकी शुरुआत हो जाती है. इस दिन लोग सुबह नए कपड़े पहनकर नमाज अदा करते हुए अमन और चैन की दुआ मांगते हैं. और एक दूसरे से गले मिलकर ईद की मुबारकबाद देते हैं. इसके बाद लोगों का एक दूसरे के यहां जाना और अलग-अलग तरीकों से ईद का जश्न मनाने की शुरुआत होती है.

कब अदा की जाएगी ईद की नमाज?

बता दें कि आसमान में चांद दिखाई देने के बाद दूसरे दिन ईद की शुरुआत ईद की नमाज से होती है. हर शहर में ईद की नमाज का समय अलग-अलग होता है. वक्फ बोर्ड और रोजनामा इंकलाब ने दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों के लिए ईद की टाइमिंग जारी कर दी है. दिल्ली की जामा मस्जिद में गुरुवार सुबह साढ़े छह बजे नमाज अदा की जाएगी.

वहीं जामिया सनाबील, ओखला में सुबह 7:00 बजे, फतेहपुरी मस्जिद में सुबह 7:30 बजे, कादरी मस्जिद, जाकिर नगर में सुबह 7:30 बजे, जामा मस्जिद, सेक्टर 8 नोएडा में सुबह 7:30 बजे, ईदगाह, जाफराबाद में सुबह 7:45 बजे और शिया जामा मस्जिद, कश्मीरी गेट में सुबह 8:00 बजे नमाज अदा की जाएगी.

क्या है रिवाज?

ईद-उल-फितर में मीठे पकवान विशेषकर सेंवईंयां बनाने का रिवाज है. इस दिन लोग आपस में गले मिलकर एक दूसरे को ईद की मुबारकबाद देते हैं और प्रेम से एक-दूसरे को घर में बनी मिठाइयां व पकवान परोसते हैं. इस दिन लोग एक दूसरे को ईदी भी देते हैं. ईदी एक तरह से तोहफा होता है. इसमें कुछ गिफ्ट आइटम या पैसे या फिर कुछ और तोहफे दिए जाते हैं.

ईद उल फितर क्या है?

ईद उल फितर को अरबी और एशियाई देशों में ईद अल फ़ितर के नाम से जाना जाता है. यह दुनिया भर के सभी मुसलमानों का सबसे प्रमुख और खास त्योहार है. ईद-उल-फितर रमजान ए पाक महीने के पूरे होने की खुशी में मनाई जाती है. यह त्योहार रोजे की समाप्ति का प्रतीक माना जाता है. ईद अल फितर उन सभी रोजेदारों के लिए अल्लाह की तरफ से इनाम है जिन्होंने रमजान के पाक महीने के दौरान रोजे रखे थे.

यह रोजेदारों द्वारा रमजान के महीने के दौरान अल्लाह की इबादत करने और उनके बताए रास्ते पर चलने और उनका शुक्रिया अदा करने के लिए भी मनाई जाती है. परंपरागत रूप से, ईद उल फितर लगभग सभी मुस्लिम देशों में तीन दिनों तक मनाई जाती है.

ईद उल फितर मनाने की शुरूआत कैसे हुई?

माना जाता है कि 624 ईस्वी में पहली बार ईद उल फितर का त्योहार मनाया गया था और यह ईद पैगंबर मुहम्मद ने मनाई थी. इस ईद को ईद उल-फितर के नाम से जाना जाता है. ईद उल-फितर को मीठी ईद के नाम से भी जाना जाता है. माना जाता है कि इस दिन पैगंबर हजरत मुहम्मद बद्र की लड़ाई से विजयी हुए थे तब लोगों ने पैगंबर की विजय पर खुशी में आपस में मिठाइयां बांटीं और विभिन्न प्रकार के पकवान बनाए.

ईद के दिन मुस्लिम लोग रमजान खत्म होने की खुशी मनाते हैं और कुरान के लिए अल्लाह का आभार व्यक्त करते हैं. इस्लाम में ईद के त्योहार पर पांच सिद्धांतों का पालन करना सबसे जरूरी माना जाता है. ये पांच सिद्धांत हैं, नमाज़ पढ़ना, हज यात्रा, ईमान, रोज़ा और ज़कात. इस्लामिक प्रथा के अनुसार ईद की नमाज अदा करने से पहले हर मुस्लिम व्यक्ति को दान या जकात देना जरूरी होता है.

ईद उल फितर का महत्व

इस्लाम धर्म में रमजान का महीना बहुत ज्यादा पाक माना जाता है. इस पूरे महीने मुस्लिम लोग रोजा यानी उपवास रखते हैं और अपना ज्यादा समय अल्लाह की इबादत में बिताते हैं. मुसलमान अल्लाह का शुक्रिया अदा करते हुए इस महीने के आखिर में रोजे के समापन का प्रतीक ईद-उल-फितर मनाते हैं, जिसे मीठी ईद भी कहा जाता है.

Have something to say? Post your comment

और चंडीगढ़ समाचार

पापुआ न्यू गिनी में भूस्खलन से दबे 300 लोग, चीनी श्रमिकों के परिजनों को पाकिस्तान देगा मुआवजा

पापुआ न्यू गिनी में भूस्खलन से दबे 300 लोग, चीनी श्रमिकों के परिजनों को पाकिस्तान देगा मुआवजा

8 राज्यों की 58 सीटों पर 61.74% वोटिंग:बंगाल में BJP कैंडिडेट पर हमला, पार्टी ने TMC पर आरोप

8 राज्यों की 58 सीटों पर 61.74% वोटिंग:बंगाल में BJP कैंडिडेट पर हमला, पार्टी ने TMC पर आरोप

राजकोट में आग लगने से 12 बच्चों सहित 28 की मौत, दूसरी ओर दिल्ली अस्पताल में आग, 6 नवजात बच्चों की मौत, कई घायल

राजकोट में आग लगने से 12 बच्चों सहित 28 की मौत, दूसरी ओर दिल्ली अस्पताल में आग, 6 नवजात बच्चों की मौत, कई घायल

Cyclone Remal: चक्रवाती तूफान 'रेमल' आज बंगाल में टकराएगा, NDRF की टीमें अलर्ट, 21 घंटे तक उड़ानों को किया गया रद्द

Cyclone Remal: चक्रवाती तूफान 'रेमल' आज बंगाल में टकराएगा, NDRF की टीमें अलर्ट, 21 घंटे तक उड़ानों को किया गया रद्द

रिपोर्ट में दावा- यूक्रेन युद्ध रोकने के लिए पुतिन तैयार:चाहते हैं कि दोनों देशों की सीमाएं मौजूदा हिसाब से ही रहे

रिपोर्ट में दावा- यूक्रेन युद्ध रोकने के लिए पुतिन तैयार:चाहते हैं कि दोनों देशों की सीमाएं मौजूदा हिसाब से ही रहे

लोकसभा चुनाव 2024: छठे चरण में 58 सीटों पर वोटिंग, इन दिग्गजों का भविष्य होगा ईवीएम में बंद

लोकसभा चुनाव 2024: छठे चरण में 58 सीटों पर वोटिंग, इन दिग्गजों का भविष्य होगा ईवीएम में बंद

Chhattisgarh Blast: सबसे बड़ी बारूद फैक्टरी में जोरदार धमाका, दस लोगों की मौत की खबर; कई लोग मलबे में दबे

Chhattisgarh Blast: सबसे बड़ी बारूद फैक्टरी में जोरदार धमाका, दस लोगों की मौत की खबर; कई लोग मलबे में दबे

नौ दिन धरती पर सीधी पड़ेंगी सूर्य की किरणें, प्रचंड गर्मी का करना पड़ सकता है सामना

नौ दिन धरती पर सीधी पड़ेंगी सूर्य की किरणें, प्रचंड गर्मी का करना पड़ सकता है सामना

पीओके हमारा है और वहां तिरंगा फहराना हैःमल्होत्रा

पीओके हमारा है और वहां तिरंगा फहराना हैःमल्होत्रा

रूस ने यूक्रेनी इलाके में न्यूक्लियर हथियार टेस्टिंग शुरू की:पुतिन ने दिया था आदेश; इस्कंदर और किंझल मिसाइलें इसमें शामिल

रूस ने यूक्रेनी इलाके में न्यूक्लियर हथियार टेस्टिंग शुरू की:पुतिन ने दिया था आदेश; इस्कंदर और किंझल मिसाइलें इसमें शामिल