Thursday, July 18, 2024
BREAKING
NITI Aayog: नीति आयोग की नई टीम गठित, PM मोदी अध्यक्ष, राजनाथ सिंह, अमित शाह और शिवराज सिंह चौहान भी शामिल Kedarnath Temple: 'केदारनाथ से 228 किलो सोना गायब' शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद का दावा Delhi-NCR Weather Update: चलेगी आंधी... गरजेगी बिजली, एनसीआर में बारिश की संभावना; हफ्ते भर ऐसा रहेगा मौसम दैनिक राशिफल 18 जुलाई, 2024 US की चेतावनी के बावजूद साथ आए चीन और रूस, नाटो मीटिंग के बाद सैन्य अभ्यास की शुरुआत CAA: 2015 के बाद आए लोगों को वापस भेजा जाएगा... CAA को लेकर असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने दी यह चेतावनी Flood Alert: इस राज्य की सभी नदियों में बह रहा खतरे से ऊपर पानी, दिल्ली-NCR में छह दिनों तक होगी झमाझम बारिश दैनिक राशिफल 17 जुलाई, 2024 मुख्यमंत्री ने प्रदेश में बिजली उत्पादन, पारेषण और वितरण की अद्यतन स्थिति व भविष्य के दृष्टिगत जारी प्रयासों की समीक्षा की Birmingham Nightclub Shooting:ट्रंप की हत्या की कोशिश के बाद फिर दहला अमेरिका! बर्मिंघम नाइट क्लब में गोलीबारी से 4 लोगों की मौत, कई घायल

उत्तर प्रदेश

'कैच द रेन' अभियान को तेजी से पूरा करने में जुटी योगी सरकार

June 20, 2024 10:40 AM

- सीएम योगी के निर्देश पर वर्षा जल के अधिकाधिक संचयन के लिए चल रहा 'कैच द रेन' अभियान

 - अभियान के पांचवें चरण में प्रदेश के सभी जनपदों में शीघ्रता से पूरे किये जा रहे तमाम कार्य

 - छोटी नदियों के कायाकल्प से लेकर पारंपरिक जल निकायों और जलस्रोतों का हो रहा नीवनीकरण

 - अमृत सरोवरों में जमी सिल्ट को साफ करने में जुटी है योगी सरकार की मशीनरी

 - सरकारी भवनों की छतों पर रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम को किया जा रहा दुरुस्त

 - अमृत सरोवरों की साफ सफाई में गोरखपुर सबसे आगे, रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम में पीलीभीत सबसे आगे

 लखनऊ, 19 जून। अधिकाधिक वर्षा जल संचयन के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश में चल रहा 'कैच द रेन' अभियान तेज गति से आगे बढ़ रहा है। 2019 से प्रतिवर्ष मार्च-अप्रैल से नवंबर तक चलने वाला ये अभियान इस वर्ष अपने पांचवें चरण में पहुंच चुका है। इसके अंतर्गत पारंपरिक जल निकायों, जलस्रोतों का नीवनीकरण और पुन: उपयोग, बोरवेल पुनर्भरण, वाटरशेड का विकास, गहन वनारोपण, छोटी नदियों के कायाकल्प के साथ ही 'नारी शक्ति से जल शक्ति' के थीम पर जन जागरूकता कार्यक्रम, जिलों की हाइड्रो जियोलॉजिकल परिस्थिति के अनुसार जल संचयन संबंधी अन्य कार्य कराए जा रहे हैं। इसके अलावा जिलों के सभी शासकीय, अर्द्धशासकीय भवनों पर अनिवार्य रूप से रूफटॉप रेनवाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली (RTRWH) की स्थापना कराने के निर्देश हैं। साथ ही यह भी निर्देश हैं कि जिलों के सभी अमृत सरोवरों के जल प्रवाह में रुकावट को ठीक किया जाए।

 क्रियान्वयन के मामले में ये हैं टॉप फाइव जिले

18 जून तक की रिपोर्ट के अनुसार जिलों के शासकीय और अर्द्धशासकीय भवनों पर अनिवार्य रूप से रेनवॉटर हार्वेस्टिंग प्रणाली (RTRWH) की स्थापना कराने के मामले में पीलीभीत, अयोध्या, अंबेडकरनगर, बाराबंकी और गोंडा क्रमश: टॉप फाइव में हैं। यहां शत प्रतिशत कार्य पूरा किया जा चुका है। वहीं अमृत सरोवरों के रखरखाव में गोरखपुर, महाराजगंज, प्रयागराज, आजमगढ़ और बाराबंकी क्रमश: टॉप फाइव जनपद हैं। यहां अमृत सरोवरों में सिल्ट और वनस्पतियों को साफ कराने का कार्य पूरा कर लिया गया है। साथ ही निर्माणाधीन अमृत सरोवरों के कार्य को भी पूरा कर लिया गया है।

 जल निकाय की हो डिसिल्टिंग

प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने हाल ही में 'कैच द रेन अभियान 2024' की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को इस बात से अवगत करा दिया है कि यह केंद्र और योगी सरकार के सर्वोच्च प्राथमिकता में शामिल है। इसके अंतर्गत प्रदेश के सभी जिलों में मानसून के प्रारंभ से पहले प्राथमिकता के आधार पर जल स्रोतों यथा तालाब, कृत्रिम पुनर्भरण संरचना, छोटी नदियां, चेकडैम, जल निकाय के डिसिल्टिंग और पुनरुद्धार के कार्य पूर्ण कर लिए जाएं, जिससे कि वर्षा ऋतु में अधिकाधिक वर्षा जल का संचयन करते हुए जल शक्ति अभियान को सार्थकता प्रदान की जाए।

 जिलों में सीडीओ बनाए गये हैं नोडल अफसर

इस बात के भी निर्देश हैं कि जनपदों के सभी शासकीय, अर्द्धशासकीय भवनों यथा कार्यालय भवन, प्राथमिक विद्यालय, आंगनवाड़ी केंद्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, पंचायत भवन आदि पर अनिवार्य रूप से रूफटॉप रेनवाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली की स्थापना सुनिश्चित करा ली जाए। साथ ही नगरीय क्षेत्रों में आने वाले समस्त पार्क और सार्वजनिक स्थलों में वर्षा जल संचयन के प्रभावी उपाय किये जाएं। इसके अलावा 'कैच द रेन 2024' विषय पर जन जागरूकता के लिए स्कूली बच्चों एवं समाज में विशेष अभियान, रैलियां, गोष्ठियां, वार्ता आदि का भी आयोजन कराया जाए, जिससे जल संरक्षण एक जन आंदोलन का रूप ले सके। इसके लिए सभी जिलों के मुख्य विकास अधिकारी को नोडल अधिकारी नामित किया गया है।

Have something to say? Post your comment

और उत्तर प्रदेश समाचार

मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जनपदों में बाढ़ एवं जलभराव के दृष्टिगत आमजन, कृषि फसलों एवं पशुधन की सुरक्षा व सुविधा के लिए किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा की

मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जनपदों में बाढ़ एवं जलभराव के दृष्टिगत आमजन, कृषि फसलों एवं पशुधन की सुरक्षा व सुविधा के लिए किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा की

मुख्यमंत्री ने चालू वित्तीय वर्ष में कर-करेत्तर राजस्व प्राप्तियों की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की

मुख्यमंत्री ने चालू वित्तीय वर्ष में कर-करेत्तर राजस्व प्राप्तियों की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में बिजली उत्पादन, पारेषण और वितरण की अद्यतन स्थिति व भविष्य के दृष्टिगत जारी प्रयासों की समीक्षा की

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में बिजली उत्पादन, पारेषण और वितरण की अद्यतन स्थिति व भविष्य के दृष्टिगत जारी प्रयासों की समीक्षा की

भारत के मुख्य न्यायाधीश एवं उ0प्र0 के मुख्यमंत्री डॉ0 राम मनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय, लखनऊ के तृतीय दीक्षांत समारोह में सम्मिलित हुए

भारत के मुख्य न्यायाधीश एवं उ0प्र0 के मुख्यमंत्री डॉ0 राम मनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय, लखनऊ के तृतीय दीक्षांत समारोह में सम्मिलित हुए

35 नहीं, अब रोपित होंगे 36 करोड़ से अधिक पौधे

35 नहीं, अब रोपित होंगे 36 करोड़ से अधिक पौधे

भारतीय लोकतंत्र को मजबूती प्रदान करेगा 'संविधान हत्या दिवस' : सीएम योगी

भारतीय लोकतंत्र को मजबूती प्रदान करेगा 'संविधान हत्या दिवस' : सीएम योगी

सीएसआर से सर्वोदय विद्यालयों में स्मार्टक्लास और फिजिक्स लैब का होगा विकास

सीएसआर से सर्वोदय विद्यालयों में स्मार्टक्लास और फिजिक्स लैब का होगा विकास

महाकुंभ में भी लागू होगा 'डिजिटल अटेंडेंस' सिस्टम, एआई बेस्ड फेशियल रिकग्नीशन मोबाइल ऐप बनेगा माध्यम

महाकुंभ में भी लागू होगा 'डिजिटल अटेंडेंस' सिस्टम, एआई बेस्ड फेशियल रिकग्नीशन मोबाइल ऐप बनेगा माध्यम

अवैध खनन वाले क्षेत्रों की सैटेलाइट से निगरानी कराएगी योगी सरकार

अवैध खनन वाले क्षेत्रों की सैटेलाइट से निगरानी कराएगी योगी सरकार

इस साल जापान और मलेशिया को 40 टन आम निर्यात करेगा उत्तर प्रदेश: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

इस साल जापान और मलेशिया को 40 टन आम निर्यात करेगा उत्तर प्रदेश: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ